आप यहाँ हैं होम (घर) / ब्रॉडबैंड इंटरनेट सुरक्षा

ब्रॉडबैंड इंटरनेट सुरक्षा

 

बहुत-से होम कंप्‍यूटर साइबर अपराधियों के शिकार बन चुके हैं। अपने कंप्‍यूटर को सुरक्षित कर के उसे बचा कर रखें। ब्रॉडबैंड का संबंध हाय-स्‍पीड नेटवर्क कनेक्‍शन से है।

पारंपारिक इंटरनेट सेवा सदैव 'डायल ऑन डिमांड' मोड पर पाई जाती हैं, जबकि ब्रॉडबैंड इंटरनेट हमेशा 'ऑलवेज़-ऑन' होते हैं एवं इसीलिये सुरक्षा जोखिम बहुत अधिक है।

हमें ज्ञात हुये बिना ही कंप्‍यूटर कॉम्‍प्रमाइज कर लिया जाता है और इसका प्रयोग अन्‍य कंप्‍यूटर्स पर क्षतिकारी गतिविधियॉं करने के लिये लॉंचिंग पैड के रूप में भी किया जा सकता है।

 क्‍योंकि ब्रॉडबैंड इंटरनेट की पहुँच बहुत दूर तक होती है, हमें इसके सुरक्षित प्रयोग के बारे में ध्‍यान रखना चाहिये।

ब्राडबैंड सुरक्षा खतरे :

ब्रॉडबैंड इंटरनेट कनेक्‍शन 'हमेशा ऑन' होता है, इसीलिए इसका जानबूझकर गलत उपयोग किया जाता है, इन सब के ज़रिये

  1. ट्रोजन्‍स और बॅकडोर्स

  2. डिनायल ऑफ सर्विस

  3. एक और आक्रमण के लिये मध्‍यस्‍थ

  4. हिडन फाइल एक्‍सटेंशन्‍स

  5. चैट ग्राहक

  6. पैकेट स्निफिंग

  7. डीफाल्‍ट कन्फिगरेशन्‍स (अनुरूपता) अतिसंवेदनशील होते हैं

ब्रॉडबैंड मॉडम के प्रकार

  • वायरलेस फिडिलिटी (Wi-Fi)

  • डिजिटल सबस्‍क्राइबर लाइन (DSL)

    • एसिंगक्रनस डिजिटल सबस्‍क्राइबर लाइन (ADSL)

    • वेरी हाई-स्‍पीड डिजिटल सबस्‍क्राइबर लाइन (VDSL)

  • केबल मॉडम

  • सेटेलाईट

  • ब्रॉडबैंड ओवर पावरलाइन्‍स (BPL)

  • टर्मिनल ऑडप्‍टर मॉडम

  • यूनिवर्सल सीरियल बस (USB)

एनिमेटेड वीडियो

ब्रोशर डाउनलोड

संबंधित लिंक
घटना प्रतिवेदन

किसी भी घटना की रिपोर्ट करने के लिए, कृपया यहाँ पर जाएँ http://www.cert-in.org.in

This is Schools Diazo Plone Theme